Friday, 18 October 2013

एहि नव पीढ़ीक भविष्य कें सम्हारू

विषाक्त पीढ़ीक कुकृत्य भोगक लेल विवश अछि नेनपन

प्रणव प्रियदर्शी 
नेना सड़क पर नहि उतैर सकैत अछि। नेना स्वाद नहि पहिचान सकैत अछि। नेना सभ सं लडि़ नहि सकैत अछि। नेना प्रपंच नहि बुझि सकैत अछि। कि इएह कारण थिक 19 जुलाई कें सारण जिलाक दुर्घटना कें। जाहि मे 23 गोट नेना सभक मृत्यु भ' गेल। एहि घटना कें आरोपी प्रधानाध्यापिका मीना कुमारी कें गिरफ्तारी भए चुकल अछि। हुनक पति सेहो सरेंडर कए देलनि। आगुक कार्रवाई प्रशासनिक स्तर पर भए रहल छै। फांरेंसिक जांच रिपोर्ट में एहि बातक खुलासा भए गेल अछि जे स्कूलक ओहि दिनक मध्याहन  भोजन मे जरूरत सं अधिक कीटनाशक मिलाओल गेल छल। घटनाक 58 दिन बाद 16 सितंबर कें उ.म.वि. गंडामनक नेना सभ कें बहुत विश्वास मे लेलाक बाद एमडीएम कें स्वाद फेर सं चखलक। एहि बीच एक प्रश्न सदिखन मन मे उठैत रहल जे गंडामन गाम सं ल' क' पीएमसीएच तक बहल नोर आ हाहाकारक हिसाब के दए सकैत अछि। प्रश्न उठैत अछि एहि तरहक दानवीय कुकृत्य जाहि देश-समाज मे भए रहल हो कि ओहि देश-समाज कें मनुखक देश-समाज कहल जाए सकैत अछि।
       सभ सं आश्चर्यक बात ई छल जे एहि घटनाक समयए सं सियासत शुरू भए गल छल। ओ समय छल सोगाएल परिवार कें सांत्वना आ सहानुभूति देवाक। बीमार नेना सभ कें सही उपचार करबाक। राज्य मे भेल एहि दुर्घटनाक मंथन करबाक। मुदा चट्टान सभ पर पानि नहि ठहरैत छै। सियासत कें सूरमाक हृदय सेहो चट्टान बनि गेल अछि। ओकरा सभ कें अपन राजनीति चमकेबाक एहि सं नीक मौका आब कहिया भेटि सकैत छलै। घटनाक दोसरे दिन बंदी कें एलान कए देल गेल। ताहि मे पुलिसक चारिटा बाहनो कें जरा देल गेल। आरोप-प्रत्यारोपक खेल शुरू भेल। माहौलक इ मखौल घटना कें अलग रूप गढि़ देलक। निश्चय, एहि तरहक कारगुजारी संवेदनहीन आ क्रूर राजनीति केर परिचायक अछि।
        वाहन जरेबाक आरोप मे जकरा सभ पर प्राथमिकी दर्ज भेल छल, ओहि मे एकटा गंडामनक व्यक्ति सेहो छला। ग्रामीण सभ कहथि जे गांव कें लोक सभ तें एहि हादसा सं अपने दुखी छल। स्थानीय लोक मे सं कियो वाहन नहि जरेलक। बाहर कें शरारती तत्व राजनीतिक साजिश कें तहत एहि घटनाक अंजाम देलक। कोनो एक दल कें नेता कोनो दोसर दलक नेता पर एहि तरहक आरोप लगाबे त' ओकरा अनदेखा क' देल जा सकैछ। मुदा जखन शोक संतप्त ग्रामीण एहन गप कहथि त' बात विचारणीय भए जाइत छै।
        एहि घटना कें बाद लगातार गया, मधुबनी आ आन-आन ठाम सं सेहो जहर मिलबैक बारदात सामने आयल। गया मे अफबाहक पसाही पसारनाहर मे सं दू गोट भाजपा विधायक कें सहो गिरफ्तार कयल गेल। मुदा सभ ठाम अफबाह बला गप नहि छलै। एहि घटनाक एक सप्ताहो नहि बीतल छल की गोपालगंजक फुलवरिया प्रखंड कें सरकारी विद्यालयक चापाकल में जहरीला पदार्थ मिला देल गेल। गनीमत ई छलै जे एकटा छात्र जहन पानि पिबी लए गेल त' पानि कें रंग कारि देख एकर सूचना प्राचार्य कें देलक। विद्यालयक परिसर मे गड़ाओल तीनहुटा चापाकल कें सील कए देल गेल। पानि कें जांच करेबाक लेल लेबोरेटरी पठाओल गेल। जांच रिपोर्ट आबै तक अधिकारी सभ एडीएम बनाबए पर रोक लगा देलक। एहने घटना सीवान जिलाक दरैंदा में सेहो भेल। बांका मे सेहो एहन घटना भेल।
         घटना एहि ठाम नहि रुकल। सीवान मे हरदियां प्रखण्डक मिडिल स्कूल मे कीटनाशक मिलाबय गेल युवक कें लोक सभ खूब पीटलक। बाद में ओकरा पुलिस कें सौंपि देल गेल। लोक आक्रोश मे ओकर बाइक जरा देलक। ओकर बाद स्कूलो कें आगि लगा देल गेल। ओकरा बाइक सं कीटनाशक बोतल सेहो भेटल। ओना फॉरेसिंक विभाग मे जिला सभ सं एहि घटनाक मादे जे नमूना भेजल गेल छल ओहि मे कीटनाशक हेवाक पुख्ता प्रमाण नहि भेटल। मुदा एहि बीच राज्य भरक नेना डेराअल-सकुचायल जरूर रहल। स्कूली बच्चा कें भोजन-पानि दोनों पर ग्रहण लागि गेल छल।
         पहिलो मध्याहन भोजनक छिटपुट घटना सामने अबै छल। मुदा ऐते बच्चाक मृत्यु नहि भेल छल। ओकर बाद ओछ राजनीतिक तांडव, तकर बाद शृंखलाबद्ध घटनाक झड़ी नहि लागल छल। साजिशक शिकार बच्चा कें बनाओल जेबाक निकृष्टता एक गोट नव तरहक मानसिक विद्रूपताक दिस इंगित करैत अछि। ऐहन घटना साफ-साफ इंगित कए रहल अछि जे हमर समाज आब बच्चोक प्रति संवेदनहीन भ' गेल अछि।
         सुरक्षा कें मादे एहि घटना मे मारल गेल नेना सभक शव विद्यालय के चारूतरफ दफनाओल गेल। गंडामनक ग्रामीण कहैत छला जे ई भविष्यक संकेत होयत जे केहन अमानवीय घटना सं नेना सभहक प्राण-पखेरू उड़ल छल। एहि स्थान पर स्मारक बनत, ताकि लोक सभ कें स्मरण रहनि कि एहिठम एक बेर नृशंस घटना भेल छल। ई स्मरण दियाबैत रहत जे फेर एहि तरहक घटना दोबारा नहि हुए। तैयो एतबा काफी नहि अछि। हमरा सभ कें ई घटना सतर्कता केर संग ई सोचबाक लेल सेहो विवश कए रहल अछि जे कोना अपन नव पीढ़ी के सुरक्षित भविष्य देल जाए? 

No comments :

Post a Comment